National View

अपने प्रसंग वश में अजमेर के जाने माने वकील राजेश टंडन जी  क्या कहते हे

अपने प्रसंग वश में अजमेर के जाने माने वकील राजेश टंडन जी  क्या कहते है।,,,,,,

www.nationalview.in

प्रसंग वश ,

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा,

अपाहिज और पंगु हो गई राजस्थान की पुलिस ,

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में जिस तरह पुलिस ने नेट इंटरनेट दो दिन बंद करके राजस्थान के 3,000 हजार करोड़ के व्यापार को नष्ट भष्ट्र कर दिया , प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल क्रांति मुहिम के पिछवाड़े में लात मारी है उसकी क्षतिपूर्ति हो ही नहीं सकती , मोबाइल इंटरनेट बंद से होने वाले सभी आनलाईन काम ठप हो गया , जिससे करोड़ों का व्यापार प्रभावित हुआ , व्यापारी और आनलाईन बुकिंग करने वाले बेकसूर लाखों लोग परेशान व हैरान हुऐ , स्वेपिंग कार्ड मशीन से भुगतान नहीं हो सका , ट्रेन व फ्लाइट की बुकिंग नहीं हो सकी ,

सरकार ने जो डिजिटल इंडिया का नारा दिया था पुलिस ने अपने मफाद के लिये उसकी मां बहन करके रख दी , ई -वे बिल ,ई रिटर्न , ई वालेट ट्रांजेक्शन ,इंटरनेट बेकिंग सब की ऐसी की तैसी कर दी ,और पुलिस ने अपनी पीठ निहायत ही बेशर्मी से थपथपाई की हमने परीक्षा बडी अच्छी तरह करवा ली और नकल रोकने में कामयाब रहे , जनता को दुखी करके अजमेर जिले के दस लाख उपभोक्ताओं को परेशान करके बडा नाम कमाया पुलिस ने ,
अब आने समय में अजमेर पुलिस शहर में कर्फ्यू लगवा दे गी और फिर अपनी पीठ थपथपाने लगेगी की कोई चोरी चाकारी ही नहीं हुई , कोई चैन नहीं टूटी और ना ही कोई बल्तकार हुआ और ना ही कोई ऐक्सिडेंट हुआ हमने अपराधियों पर अपराधों पर काबू पा लिया , तथा राजस्थान में सबसे ज्यादा स्टेंडिंग वांरटी पकड़ लिये हैं बस अब मुझे पदमश्री से नवाजो , और हो सके तो भारत रत्न ही देदो मैंने पुलिस का इकबाल बुलंद किया है ,

अभी नागौर में आर्मी की भर्ती हुई थी अजमेर में जिलाधीश महोदया के अजमेर जोईन करते ही आर्मी की भर्ती हुई थी तब कौन सी इंटरनेट सेवा बंद की थी और शहरवासियों को किसी ने दुखी नहीं किया ये तो पुलिस को ही अपने ऐब छुपाने और दबंगई की लत लग गई है और महानतम डरपोक गृहमंत्री सेठ गुलाब चंद कटारिया जी मिल गये हैं जो स्वविवेक से फैसला ले ही नहीं सकते पुलिस के कारकूनों के यहाँ गिरवी पडे हैं पंचायती राज मंत्री ही ठीक थे पर संघनिष्ठो की सदा यह जिद रहती है कि गृहमंत्री और शिक्षा मंत्री संघनिष्ठ होना चाहिए ताकि संघ का कब्जा रहे और इस राज में दोनों की जो दुर्गति हो रही है वो किसी से छुपी नहीं है ,ये सरकार खुलेआम सत्ता का दुरुपयोग कर रही है कैसे इंटरनेट बंद करवा रही सिर्फ़ भर्ती परीक्षा के नाम पर , कोई बडा फसाद हो गया तो अपनी कमजोरियों को छुपाने के लिये शहर और राजस्थान बंद करवा देगी , दुखद ।

आपका अपना राजेश टंंडन जी वकील अजमेर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *