National View

दिवाली पर ‘रोहित शर्मा’ धमाका, भारत का सीरीज पर कब्ज़ा

 कप्तान रोहित शर्मा ने लखनऊ में (111 नाबाद) के आतिशी शतक के बाद गेंदबाजों के कातिलाना प्रदर्शन की बदौलत भारत ने मंगलवार को वेस्टइंडीज को 71 रनों से पीट कर तीन मैचों की टी-20 श्रखंला में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली।

www.nationalview.in

नवाबी नगरी लखनऊ के नए नवेले भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना स्टेडियम में छोटी दिवाली पर भारत ने दूसरे टी 20 मुकाबले में टास हार कर पहले खेलते हुए निर्धारित 20 ओवरों में दो विकेट पर 195 रन बनाए जिसके जवाब में वेस्टइंडीज ने नौ विकेट पर 124 रन बनाकर पवेलियन लौट गई। इस जीत के साथ भारत ने 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली। इससे पहले भारत ने मेहमान टीम को कोलकाता में पांच विकेट से हराया था।

इकाना की अंजान मगर कठिन पिच पर कप्तान रोहित शर्मा की पारी लाजवाब और लंबे समय तक याद करने वाली थी जिसके दम पर भारत ने चुनौतीपूर्ण स्कोर खडा किया। बाद में नवोदित खलील अहमद, जसप्रीत बुमराह के अलावा लोकल हीरो कुलदीप यादव और भुवेनश्वर कुमार ने कहर बरपाती गेंदों से बराबर बराबर दो दो विकेट झटक कर मेहमान टीम को घुटनों पर बैठा कर जीत की इबारत लिख दी।

इस तरह रोहित शर्मा के बल्ले से बरसे रन

नवाबी नगरी लखनऊ के नए छोटी दिवाली पर रोहित के बल्ले ने आग उगली और मैदान के चारों ओर रनों की आतिशबाजी से दर्शकों का भरपूर मनोरंजन किया। रोहित ने अपना चौथा विश्व रिकार्ड शतक मात्र 61 गेंदो में पूरा किया। इस दौरान उन्होने आठ चौके और सात छक्के जड़ कर विंडीज तूफान की हवा निकाल दी।

रोहित अब ट्वंटी-20 में चार शतक बनाने वाले पहले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित का खौफ मेहमान टीम पर इस कदर था कि आखिरी ओवर में उन्होने अपना शतक दो चौके और एक छक्के से पूरा किया। इसी ओवर में उन्हे एक जीवनदान मिला जब विंडीज के कप्तान कार्लोस ब्रेथवेट की गेंद पर लांग आन पर खडे पोलार्ड ने उनका कैच टपका दिया।

भारतीय टीम ने आखिरी ओवर में 20 रन ठोके। कोलकाता में कहर बरपाती गेंदों से भारतीय बल्लेबाजो को संघर्ष करने पर मजबूर करने वाले कप्तान ब्रेथवेट खास तौर पर भारतीय कप्तान के निशाने पर रहे। ब्रेथवेट ने निर्धारित चार ओवरों में 56 रन खर्च किए। टी 20 की चैंपियन टीम वेस्टइंडीज ने मैच के शुरू से ही लचर क्षेत्ररक्षण और दिशाहीन गेंदबाजी का नजारा पेश किया।

विंडीज गेंदबाजों ने छोटे फार्मेट के मैच में दस रन एक्सट्रा के तौर पर लुटाये और दो बार भारतीय बल्लेबाजों को जीवनदान दिया। खराब फार्म से जूझ रहे शिखर धवन के लिये यह मुकाबला संजीवनी साबित हुआ। फेबियन एलेन की गेंद पर सीमा रेखा पर जीवनदान मिलने के बाद शिखर ने ढीली गेंदों पर जमकर प्रहार किए हालांकि 14वें ओवर की आखिरी गेंद पर वह एलेन की गेंद पर चकमा खा गए और निकोलस पूरन को कैच थमा बैठे।

अपनी 43 रन की पारी के दौरान उन्होने 41 गेंद खेलकर तीन चौके लगाए। पहला विकेट 123 रन पर खोने के बाद बल्लेबाजी क्रम में बदलाव करते हुये बड़े शाट लगाने वाले रिषभ पंत को क्रीज पर भेजा गया हालांकि वह नाकाम साबित हुए और मात्र पांच रन बनाकर पवेलियन लौट गए।

आखिरी के पांच ओवर खेलने आए लोकेश राहुल ने कप्तान को निराश नही किया और करारे शाट लगाकर स्कोरबोर्ड की गति को रफ्तार दी। राहुल 14 गेंद पर दो चौकों और एक छक्के की सहायता से 26 रन बनाकर नाबाद लौटे।

Journlist :- Shamshud duha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *