2018 पिछले 118 साल में पांचवां सबसे गर्म साल होगा

नई दिल्ली. देश का तापमान तेजी से बढ़ रहा है। एक स्टडी में 1901 से अब तक 118 साल के तापमान का अध्ययन किया गया है। इसके मुताबिक न्यूनतम और अधिकतम तापमान में असामान्य बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। बीते 15 साल में गर्मी के 9 सीजन में औसत तापमान 31 डिग्री से अधिक रहा। 2014, 15 और 16 के बाद 2017 चौथा सबसे गर्म सीजन रहा है। एक्सपर्ट के मुताबिक 2018 लगातार 5वां सबसे गर्म सीजन होगा। 117 साल में लगातार 5 गर्म सीजन नहीं रहे।

गर्म सीजन में गर्मी और ठंड में सर्दी बढ़ रही है

– 20वीं सदी से तापमान बढ़ रहा है। 2001 से 2016 के बीच न्यूनतम और उच्चतम तापमान में लगातार तेजी देखी गई है। 1901 से न्यूनतम और उच्चतम तापमान क्रमश: 1.07 और 1.18 डिग्री सेल्सियस बढ़ा है।
– 2001-17 के बीच सर्दी के सीजन में औसत तापमान 15 डिग्री रहा। 2009 में सर्दी का सीजन सबसे गर्म रहा। इस सीजन में तापमान 16.25 डिग्री सेल्सियस रहा। यानी गर्मी में गर्मी और ठंड में सर्दी बढ़ रही है।

2050 तक भारत जैसे गर्म देशों में गेहूं उत्पादन 25% तक घट सकता है

– ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक ग्लोबल वॉर्मिंग से देश में गेहूं उत्पादन 2050 तक 25% घट सकता है। जबकि अमेरिका, यूरोप जैसे ठंडे इलाकों में 25% बढ़ने का अनुमान है।
– देश में 1970 से 2010 के बीच खरीफ सीजन में पारा 0.45 डिग्री और रबी सीजन में 0.63 डिग्री बढ़ा है। इस दौरान औसत सालाना बारिश 86 मिमी. कम हुई है।


बढ़ती गर्मी की वजह से 40% मरीज बढ़े
– डॉक्टरों के मुताबिक हाल के वर्षों में गर्मी की वजह से स्किन संबंधी बीमारी बढ़ रही है। अधिक तापमान की वजह से 40% मरीज बढ़ रहे हैं।

1970 से 2016 तक लू के सबसे ज्यादा मामले में महाराष्ट्र में

महाराष्ट्र 87
राजस्थान 81
प. बंगाल 77
ओडिशा 67
लू से 1970-74 के बीच 2029 मौतें हुई। जबकि, 2015 में ही अकेले 2081 मौतें हुई थीं।

चेतावनी- राजस्थान में कुछ दिनों में पारा 47 से 50 डिग्री जा सकता है

– भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिक चेतन शर्मा ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि राजस्थान में पारा 47-50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच सकता है। मई और जून में राजधानी जयपुर में पारा 45 डिग्री के आसपास रहने की आशंका है। बीकानेर, चुरू सबसे ज्यादा गर्म रहेंगे।

कहीं आंधी-तूफान, कहीं प्री-मानसून बारिश

– देश में मौसम के अलग-अलग रंग देखने को मिल रहे हैं। पंजाब, जम्मू -कश्मीर में धूलभरी आंधी के साथ तूफान आया। वहीं देश के 17 राज्यों के कई हिस्सों में पारा 40 डिग्री से ज्यादा रहा। यहां दिनभर लोग लू से परेशान होते रहे। वहीं अरुणाचल, झारखंड, मिजोरम, त्रिपुरा, कर्नाटक में प्री-मानसून बारिश भी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *