#Worldmilkday 2018 : सोया, स्किम्ड, टोन्ड, कोकोनट मिल्क, जानें कौन का दूध कब और कैसे लें

अलग-अलग दूध का चुनाव अपनी जरूरत के अनुसार करना चाहिए।
Nationalview.in| Last Modified – Jun 01, 2018, 05:24 PM

shamshud Duha

गाय के शुद्ध दूध में 88 फीसदी पानी और प्रोटीन, गुड फैट व विटामिन-डी अधिक मात्रा में पाया जाता है।
हेल्थ डेस्क.दूध को कंप्लीट फूड कहते हैं। इसमें कैल्शियम अधिक पाए जाने के कारण यह हड्डियों को मजबूत बनाता है। मार्केट में दूध की कई वैरायटी (फुल क्रीम, टोंड, डबल टोंड और स्किम्ड दूध) होने के कारण लोग कंफ्यूज हो जाते हैं कि कौन सा दूध उनके लिए बेहतर है। हर साल 1 जून को वर्ल्ड मिल्क डे मनाया जाता है। इस मौके पर डाइटीशयन सुरभि पारीक से जानते हैं कि दूध की वैरायटी और उनका कब और क्यों इस्तेमाल किया जाए…
5 प्वाइंट्स : जरूरत के मुताबिक कैसे चुनें दूध
दूध कौन सा दूध किसके लिए बेहतर
1 गाय का दूध 1.गाय के शुद्ध दूध में 88 फीसदी पानी और प्रोटीन, गुड फैट व विटामिन-डी अधिक मात्रा में पाया जाता है। दूसरे दूध के मुकाबले इसमें कैल्शियम अधिक पाया जाता है।
2.ओमेगा-3 फैटी एसिड होने के कारण यह हार्ट और डायबिटीज पेशेंट्स के लिए खास फायदेमंद है। कई रिसर्च में भी सामने आया है कि यह मेटाबॉलिज्म दुरुस्त कर ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है।
3.इसमें विटामिन-ए अधिक होने के कारण यह हल्का पीला होता है इसलिए यह आंखों के लिए भी फायदेमंद है।
2 सोया मिल्क 1.ऐसे लोग जिन्हें दूध से एलर्जी है वे सोया मिल्क ले सकते हैं। हाई प्रोटीन होने के साथ इसमें कैल्शियम और आयरन भी अधिक मात्रा में होता है।
2. इसमें नौ तरह अमीनो एसिड्स पाए जाते हैं जो इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाते हैं जिससे आपकी रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है।
3.खास बात है कि इसे पीते समय ध्यान रखें कि शुगर अधिक न लें।
3 स्किम्ड मिल्क 1.बढ़ते ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल से परेशान से हैं तो स्किम्ड मिल्क बेहतर विकल्प है। खासकर 35 वर्ष की उम्र के बाद इसे लेना अच्छा है।
2.इसमें फैट मात्र 0.3 फीसदी होता है इसलिए वजन को कम करना चाहते हैं तो इसे डाइट में शामिल कर सकत हैं।
3.इसे दही या छाछ के रूप में भी लिया जा सकता है।
4 टोन्ड मिल्क 1.जिन्हें वजन नहीं घटाना है केवल फिट रहना है, वे डबल टोंड दूध पी सकते हैं। इसमें वसा की मात्रा काफी कम होती है।
2.इसमें फैट की मात्रा कम होने के कारण हार्ट अटैक, स्ट्रोक का खतरा भी कम होता है।
3.टोन्ड मिल्क में विटामिन-डी की मात्रा अधिक होती है इस कारण कैल्शियम आसानी से शरीर में एब्जॉर्ब हो जाता है।
5 कोकोनट मिल्क 1.इसकी न्यूट्रिशन वैल्यू काफी हाई है। इसमें फायबर की मात्रा अधिक होने के साथ विटामिन सी, ई, बी और आयरन, सोडियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस पाया जाता है।
2.लैक्टोज-फ्री होने के कारण ऐसे लोग जिन्हें दूध से एलर्जी है वे इसे ले सकते हैं।
3.लो-कोलेस्ट्रॉल होने के कारण यह हृदय रोगों से बचाता है।
दूध के फायदे
o दांत-हडि्डयां मजबूत करता है।
o वजन घटाने में मदद करता है।
o रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ाता है।
o यह स्किन को चमकदार बनाता है।
o कोलेस्ट्रॉल घटकार दिल दुरुस्त रखता है।
o शरीर में पानी की कमी भी पूरी करता है।
वर्ल्ड मिल्क डे की ऐसे हुई शुरुआत
लोगों को दूध का महत्व बताने और इसे एक ग्लोबल फूड का दर्जा दिलाने के लिए अमरीका का फूड एंड एग्रीकल्चर आॅर्गेनाइजेशन 1 जून को वर्ल्ड मिल्क डे सेलिब्रेट करता है। इसकी शुरुआत 2001 से हुई थी। बाद में इसे दूसरे देशों ने भी फॉलो किया और दूध को ग्लोबल फूड के तौर पर स्वीकार किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *