ऑपरेशन ऑलआउट-2: सेना और सुरक्षाबलों की हिट लिस्ट में शहीद औरंगजेब के हत्यारों समेत 10 आतंकी

सेना और सुरक्षाबल दक्षिण कश्मीर में बड़ा अभियान शुरू कर सकते हैं।
Nationalview.in| Last Modified – Jun 22, 2018, 08:08 AM

Dhamshud Duha
o अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का अलर्ट है
o रमजान के दौरान कश्मीर में 66 आतंकी हमले हुए, इससे पहले वाले महीने से 48 ज्यादा
श्रीनगर. रमजान खत्म होने और जम्मू कश्मीर में राज्यपाल शासन लागू होने के बाद सेना ने घाटी में आतंकियों के खिलाफ दूसरा ऑपरेशन ऑलआउट शुरू कर दिया है। इसके पहले चरण में सेना ने 2017 में 200 से ज्यादा आतंकवादियों को मार गिराया था। सैन्य सूत्रों ने भास्कर को बताया कि कश्मीर में 300 आतंकी सक्रिय हैं, लेकिन ऐसे 10 आतंकवादी हैं जो सेना की हिट लिस्ट पर हैं।
ये सभी आतंकियों का गढ़ बन चुके दक्षिण कश्मीर के रहने वाले हैं। इनमें अमरनाथ यात्रा का मास्टरमाइंड, शहीद औरंगजेब का हत्यारा, शुजात बुखारी का हत्यारा, हुर्रियत नेताओं को गर्दन काटने की धमकी देने वाला आतंकी, हिजबुल मुजाहिदीन का कश्मीर का नया कमांडर और आतंकियों की सर्जरी करने वाला डॉक्टर सैफुल्लाह शामिल है। ये सभी ए++ कैटेगरी के आतंकी हैं।
अब कमान केंद्र के पास: जम्मू-कश्मीर में यूनीफाइड कमांड का प्रमुख मुख्यमंत्री होता है। लेकिन महबूबा मुफ्ती के इस्तीफे के बाद राज्यपाल के जरिए अब कमान केंद्र सरकार के हाथ में है। इसलिए सेना और सुरक्षाबल दक्षिण कश्मीर में बड़े अभियान शुरू कर सकते हैं। मंगलवार को ही त्राल में तीन आतंकियों का मारा जाना इसका संकेत है। पिछले दिनों गृह मंत्री, एनएसए और गृह सचिव ने इन मुद्दों
पर चर्चा की है।
ऑपरेशन ऑलआउट-2 की वजह : पहली वजह यह है कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का अलर्ट है। यात्रा 28 जून से 26 अगस्त तक चलेगी। दूसरी वजह यह है कि रमजान के महीने में जब सुरक्षाबलों ने ऑपरेशन रोक दिए थे, तब कश्मीर में 66 आतंकी हमले हुए थे। हमलों की संख्या पिछले महीने से 48 ज्यादा थी। हमले रोकने के लिए ऑपरेशन शुरू किया जा सकता है।
ए++ कैटेगरी के 10 मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों की लिस्ट
1) जाकिर मूसा उर्फ जाकिर राशिद बट: अलकायदा की भारतीय ब्रांच गजावत अंसार नाम के आतंकी संगठन का चीफ है। त्राल के नूरपोरा का रहनेवाला है। 2013 में हिजबुल में शामिल हुआ और उसका कमांडर बना। उसने हुर्रियत नेताओं को गर्दन काटने की धमकी दी तो अगले ही दिन हिजबुल ने खुद को उसके बयान से अलग कर लिया। इससे नाराज होकर मूसा ने हिजबुल छोड़ दिया। उसके पिता
राज्य सरकार में इंजीनियर हैं।
2) डॉक्टर सैफुल्लाह उर्फ अबु मुसैब: ये श्रीनगर इलाके का हिजबुल कमांडर है। डॉक्टरी की पढ़ाई की है और पुलवामा का रहनेवाला है। उसका एक वीडियो आया था जिसमें वह एक आतंकी की सर्जरी करते हुए नजर आया था। फिलहाल यह सबसे ज्यादा पढ़ा लिखा आतंकी है जो सक्रिय है। बुरहान वानी की मौत के बाद ये अचानक पुलवामा, त्राल, काकपोरा, कुलगाम इलाके में सक्रिय हुआ।
3) नावेद जट्ट उर्फ अबु हंजाला: हाल ही में शुजात बुखारी की हत्या के पीछे इसी का हाथ होने की बात सामने आई है। पाकिस्तान का रहने वाला नावेद लश्कर का आतंकी है। इसे एक बार गिरफ्तार किया जा चुका था। लेकिन आतंकियों ने हरि सिंह अस्पताल में इलाज के दौरान इसे फायरिंग कर छुड़ा लिया था। नावेद रिटायर्ड आर्मी ड्राइवर का बेटा है और जमात-उद-दावा के मदरसे से ट्रेनिंग ले चुका है।
4) जहूर अहमद ठोकर: पुलवामा का रहने वाला है। टेरिटोरियल आर्मी का हिस्सा रहा है। वह बारामुला के अपने आर्मी कैम्प से सर्विस राइफल और तीन मैगजीन लेकर भागा था। 2017 में आतंकी बन गया। ईद पर छुट्टी जा रहे सेना की 44 राष्ट्रीय राइफल्स के जवान औरंगजेब को मारनेवाला जहूर ही है।
5) रियाज नाइकू उर्फ जुबेर उल इस्लाम: ये कश्मीर में हिजबुल कमांडर है और पुलवामा का रहने वाला है। सब्जार बट के एनकाउंटर के बाद हिजुबल कमांडर बना। टेक्नोलॉजी का जानकार है। रियाज नाइकू अपने एक वीडियो में कश्मीरी पंडितों को वापस घाटी में रहने के लिए बुला चुका है। जाकिर मूसा से उलट ये सेक्युलर सोसायटी की बात करता है, लेकिन हमले भी करता है।
6) अल्ताफ काचरू उर्फ मोइन उल इस्लाम:कुलगाम में हिजबुल का कमांडर है। कुलगाम के रिहायशी इलाके में एके47 लेकर भागते हुए इसका एक वीडियो वायरल हुआ था। 2015 से अब तक सुरक्षाबलों पर हुए कई हमलों का मास्टरमाइंड रहा है। आम लोगों को हथियार सप्लाय करने के पीछे इसकी बड़ी भूमिका है।
7) जीनत उल इस्लाम उर्फ अलकामा: शोपियां में लश्कर का डिजनल कमांडर है। आईईडी बनाने का एक्सपर्ट है। 2015 में आतंकी बना। 2008 में इसे पहली बार अलबदर के आतंकियों को खाना सप्लाय करने के लिए पीएसए के तहत गिरफ्तार किया गया था। इसके पिता स्थानीय मस्जिद में इमाम हैं और ये आतंकी बनने से पहले उनके साथ काम कर चुका है। यह पिछले साल अमरनाथ यात्रियों पर हुए
हमले का मास्टरमाइंड था।
8) वासिम एएच उर्फ ओसामा: शोपियां में लश्कर का डिस्ट्रिक्ट कमांडर है। 2014 में आतंकी बना। बुरहान वानी की टीम में यह शामिल रहा है।
9) समीर अहमद सेह उर्फ वकास भाई: जेनापोरा शोपियां का रहने वाला है। बीए फाइनल ईयर का स्टूडेंट था तभी घर से भाग गया और आतंकी बन गया। अल बदर आतंकी संगठन का हिस्सा है। मुजफ्फर अहमद नाइको के एनकाउंटर के बाद समीर ने तीन और लड़कों के साथ अल बदर ज्वाइन किया था। उसके घर से भागने के बाद परिवार ने एफआईआर दर्ज करवाई थी, लेकिन उन्हें उसका एके47 लिया
फोटो सोशल मीडिया पर मिला। समीर टेक्नोलॉजी का जानकार है।
10) जाहिद अहमद बट टाइगर: जाहिद हाल ही में मारे गए आतंकी समीर टाइगर का चचेरा भाई है। समीर के एनकाउंटर के बाद ही जाहिद अहमद आतंकी बना। वह पुलवामा का रहने वाला है। हाल ही में उसने सोशल मीडिया पर एके47 के साथ अपनी फोटो डाली है। जाहिद अपने घर से भाग गया था और बाद में उसकी ये फोटो सोशल मीडिया पर आई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *