सौ अरब डॉलर के दूसरे विजन फंड की तैयारी में सॉफ्ट बैंक, एक जैसे दृष्टिकोण वाली कंपनियों में होगा निवेश

विजन फंड के पीछे सोच मासायोशी सोन की है। वे जापानी टेलीकॉम और इंटरनेट फर्म सॉफ्ट बैंक के फाउंडर हैं।

Nationalview.in| Last Modified – Jun 23, 2018, 10:46 AM

Shamshud Duha
o सॉफ्ट बैंक ने 8 साल में भारत में 53 हजार करोड़ रुपए के निवेश के करार किए हैं
o पहले विजन फंड का मकसद अगले छह महीने में पूरा हो जाएगा
नई दिल्ली.दुनिया का सबसे बड़ा प्राइवेट इक्विटी फंड जुटाने वाला सॉफ्ट बैंक अपना दूसरा विजन फंड लाने की तैयारी में है। कंपनी ने 2016 में पहला विजन फंड 100 अरब डॉलर यानी 6.7 लाख करोड़ रुपए का बनाया था। इसमें से सॉफ्ट बैंक ने 93% हिस्सा यानी 6.3 लाख करोड़ रुपए जुटा लिए थे। 2 लाख करोड़ रुपए इन्वेस्ट भी कर दिए थे। अब दूसरा विजन फंड भी 100 अरब डॉलर का होगा। विजन फंड एक जैसे दृष्टिकोण को लेकर काम करने वाली कंपनियों में निवेश के लिए बनाया गया फंड होता है।
विजन फंड के पीछे सोच मासायोशी सोन की है। वे जापानी टेलीकॉम और इंटरनेट फर्म सॉफ्ट बैंक के फाउंडर हैं। उन्होंने 1980 में सॉफ्ट बैंक की शुरुआत की थी। वे दुनिया की नई कंपनियों में निवेश करने को लेकर चर्चा में रहते हैं। अब तक 30 कंपनियों में बोली लगा चुके हैं। अलीबाबा पर दांव लगाने वाले वे सबसे पुराने इन्वेस्टर हैं। उनके नए विजन फंड से टेक्नॉलजी की दुनिया को काफी उम्मीदें हैं।
फंड का नेतृत्व एक भारतीय के पास:सौ अरब डॉलर के पहले विजन फंड को भारतीय मूल के राजीव मिश्रा हेड कर रहे हैं। राजीव आईआईटीयन हैं। विजन फंड में वे लंदन, टोक्यो और सेन कार्लोस की टीमों के साथ काम करेंगे। वे 2017 से सॉफ्टबैंक के बोर्ड मेंबर हैं। विजन फंड के तहत सॉफ्टबैंक ने जो 93% हिस्सा जुटाया, उसमें पब्लिक इंवेस्टमेंट फंड ऑफ द किंग्डम ऑफ सउदी अरब, यूएई की मुबादला इन्वेस्टमेंट कंपनी, शार्प कॉर्पोरेशन, एपल और फॉक्सकॉन ग्रुप जैसे इन्वेस्टर शामिल थे। यह सबसे बड़ा प्राइवेट इक्विटी फंड बन चुका है। फंड का टारगेट अगले छह महीने में 100 अरब डॉलर कैपिटल के आंकड़े को छूना है।
भारत में सॉफ्ट फंड का इन्वेस्टमेंट:सॉफ्टबैंक ने भारत में फ्लिपकार्ट, ओला, पेटीएम, स्नैपडील, ओयो रूम्स, इन मोबी जैसी कंपनियों और स्टार्टअप्स में इन्वेस्ट किया है। अगस्त 2017 में सॉफ्ट बैंक ने फ्लिपकार्ट में 2.5 अरब डॉलर (करीब 17 हजार करोड़ रुपए) का निवेश किया था। यह भारत में किए गए सॉफ्ट बैंक के निवेश में सबसे ज्यादा है। सॉफ्टबैंक ने पहली बार जब स्नैपडील में इन्वेस्ट किया तो उसके वैल्यूएशन में 2 अरब डॉलर (13 हजार करोड़ रुपए) की गिरावट आई थी। जबकि ओला का वैल्यूएशन तीन गुना बढ़कर 60 कराेड़ डॉलर (4000 करोड़ रुपए) पहुंच गया था। ढाई साल पुरानी कंपनी हाउसिंग डॉट कॉम में जब सॉफ्ट बैंक ने 9 करोड़ डॉलर (600 करोड़ रुपए) इंवेस्ट किए तो उसकी वैल्यू 20 करोड़ डॉलर (1300 करोड़ रुपए) पहुंच गई थी।
कर्नाटक में 200 मेगावॉट का सोलर प्लांट भी खरीदा: सॉफ्ट बैंक ग्रुप ने भारत के सोलर पावर सेक्टर में 60 से 100 अरब डॉलर (4 लाख करोड़ से 6.7 लाख करोड़ रुपए) के बीच इन्वेस्ट करने का फैसला किया है। 2015 से अब तक यह ग्रुप भारती इंटरप्राइज और ताइवान की फॉक्सकॉन के साथ मिलकर देश के सोलर प्रोजेक्ट्स में 20 अरब डॉलर (1.35 लाख करोड़ रुपए) इन्वेस्ट कर चुका है। पिछले महीने कर्नाटक में 200 मेगावॉट का सोलर प्लांट भी खरीदा गया है।
8 साल में सॉफ्ट बैंक की भारत में 24 डील और 53 हजार करोड़ रुपए के इन्वेस्टमेंट का वादा
साल डील करोड़ डॉलर में करोड़ रुपए में
2011 2 21 1,400
2012 0 0 0
2013 0 0 0
2014 4 94 6,375
2015 7 174 11,800
2016 5 33 2,200
2017 4 416 28,214
2018 2 50 3,400
सॉफ्ट बैंक के इंवेस्टर, कर्ज और इक्विटी
सॉफ्ट बैंक में इंवेस्टर कर्ज इक्विटी कुल
एपल, क्वालकॉम, फॉक्सकॉन और शार्प 2 3 5
अबुधाबी की मुबादला 9.3 5.7 15
सउदी अरब पब्लिक इंवेस्टमेंट फंड 28 17 45
सॉफ्ट बैंक 00 28 28
(आंकड़े अरब डॉलर में)
टॉप-7 कंपनियां जिसमें विजन फंड के जरिए सॉफ्ट बैंक ने निवेश किया
कंपनी फंडिंग (अरब डॉलर में) सेक्टर देश
एआरएम होल्डिंग्स 32 इंटरनेट और चिप यूके
डीडी चक्सिंग 5.5 कैब एप चीन
स्प्रिंट 22 टेलिकॉम यूएस
नवीदिया 4 चिपमैकर यूएस
पेटीएम 1.4 पेमेंट इंडिया
वनवेब 1.2 सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट यूएस
फ्लिपकार्ट 2.5 ऑनलाइन रिटेल इंडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *