आम जायरीनों के लिए खोली गई अजमेर दरगाह

काेविड 19 गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित कराने के लिए पुलिसकर्मी मुस्तैद,
सीसी टीवी कैमरों से चप्पे-चप्पे पर की जा रही निगरानी,
दरगाह परिसर को किया गया सेनिटाइज
सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाये गए गोले।

विश्व प्रसिद्ध महान सूफ़ी संत हजरत ख्वाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह आम जायरीन के लिए सोमवार को वापस खोल दिया गया है। दरगाह शरीफ के अंदर औैर बाहर मौजूदा सुरक्षा जाप्ते से करीब तीन गुणा ज्यादा जाप्ता तैनात किया गया है। ऐसे में काेविड गाइडलाइन की सख्ती से पालना कराने काे लेकर एसपी कुंवर राष्ट्रदीप के दिशा-निर्देशाें पर जाप्ता बढ़ाया गया है। सीसी टीवी कैमरे से दरगाह के अंदर औैर बाहर चप्पे-चप्पे पर निगरानी रखी जा रही है।

दरगाह के सभी प्रवेशद्वाराें पर पुलिस के साथ दरगाह औैर अंजुमन कमेटियाें के वालंटियर्स भी मुस्तैद है। जायरीन काे थर्मल स्कैनिंग औैर सेनेटाइज्ड करने के बाद ही दरगाह शरीफ परिसर में प्रवेश दिया जा रहा है । दरगाह के अंदर औैर बाहर करीब 400 पुलिसकर्मियों का जाप्ता तैनात है ।
बिना मास्क के किसी को भी दरगाह परिसर में जाने की इजाज़त नही है ।

दरगाह के मुख्य द्वार सहित अन्य सभी द्वाराें पर पुलिस तैनात है । साेशल डिस्टेंसिंग की पालना के लिए गोल सर्किल बनाए गए हैं।

दरगाह के बाहर औैर अंदर लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है । इसके लिए एसआई स्तर अधिकारी के साथ 4 पुलिसकर्मियों का जाप्ता तैनात किया गया है।

जायरीन-ए-किराम, दरबार गरीब नवाज में आपका इस्तकबाल है…

देश भर से आने वाले जायरीनो के इस्तकबाल के लिए दरगाह में स्वागत बैनर लगाए गए हैं, जिन पर लिखा है ‘ जायरीन ए किराम दरबार गरीब नवाज में आपका इस्तकबाल है। आपकी हाजरी कुबूल मकबूल हो ।

जायरीन के बीच फिजिकल डिस्टेंस मेंटेन करने के लिए गोले बनाए गए हैं। ख्वाजा साहब की दरगाह में 172 दिन के बाद जायरीन की आवाजाही शुरू हो गई है। इसके लिए दरगाह कमेटी और खुद्दाम हजरात ने पूरी तैयारियां की है। पूरे दरगाह परिसर को सेनिटाइज किया गया।

दरगाह शरीफ के पूरे परिसर में गोले बनाए गए हैं। ये गोले दरगाह के निजाम गेट से ही शुरू हो गए हैं। निजाम गेट से बुलंद दरवाजा, महफिल खाना के सामने, शाहजहांनी मस्जिद परिसर, अहाता ए नूर, संदल खाना मस्जिद और पायंती दरवाजे के सामने।

65 साल से अधिक उम्र के लोग एहतियात बरतें
दरगाह में जायरीन की हिदायत के लिए जो बोर्ड लगाए गए हैं उनमें लिखा गया है कि 65 साल से ज्यादा अाैर 10 साल से कम उम्र के बच्चे, गंभीर रूप से बीमार लोग फिलहाल दरगाह शरीफ में हाजिरी के लिए एहतियात बरतें।
घरों, गेस्ट हाउस या होटल से ही वजू बनाकर दरगाह पहुंचे।
जूते-चप्पल गेस्ट हाउस या होटल में ही छोड़ दें।
दरगाह में तबर्रुक शीरनी तक्सीम नहीं करें।
बार-बार हाथ धोएं और एक दूसरे से दूरी बनाए रखें।

आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करें। दरगाह में रैलिंग, दीवार या किसी भी चीज को ना छुएं। दरगाह परिसर में तंबाकू, गुटका, सिगरेट आदि चीजों का सेवन ना करें।

मजार के चारों ओर नया कटहरा सहित कई अन्य कार्य कराए गए है ।

कोविड-19 के चलते ख्वाजा के दर से देश-विदेश के आशिकान ए ख्वाजा की दूरी 172 दिन की रही है। आखिरी बार आशिकान ए ख्वाजा ने 20 मार्च 2020 को दरगाह में जुमे की नमाज अदा की थी।

आस्ताना शरीफ में बदला कटहरा व छतरी
गरीब नवाज की दरगाह में आस्ताना शरीफ में मजार शरीफ के चारों ओर लगा पुराना कटहरा बदल गया है। सैयद यूनुस हाशमी और सैयद यासिर हाशमी ने बताया। कि मजार शरीफ के पास वाला कटहरा और मजार शरीफ के ऊपर की छतरी नई हो गई है। अब खादिम और जायरीन के बीच वाला कटहरा और बदल जायेगा । इसका काम भी तेजी से जारी है।
बेगमी दालान का मुख्य दरवाजा नया
इधर, दरगाह के बेगमी दालान के मुख्य दरवाजे पर चांदी का काम हो रहा है। इस काम को सैयद हमीद चिश्ती और सैयद फैजान चिश्ती की वकालत में कराया जा रहा है।

ऐतिहासिक चिरागदानों की मरम्मत

दरगाह कमेटी द्वारा हमीद अली दालान में लगे ऐतिहासिक चिराग दानों की भी मरम्मत कराई गई है। ये चिराग दान नालियों की मरम्मत के दौरान क्षतिग्रस्त हो गए थे। दरगाह कमेटी ने इन चिराग दानों की मरम्मत कर वापस लगवा दिया है।
नया फव्वारा | दरगाह के बुलंद दरवाजे से जैसे ही जायरीन महफिल खाना की ओर बढ़ेंगे, वहां पर एक नया फव्वारा जायरीन का इस्तकबाल करते नजर आएगा।
सोलहखंभा टॉयलेट ब्लॉक का काम प्रगति पर…
इधर, दरगाह के बाहर सोलह खंभा गेट के पास दरगाह कमेटी की ओर से जायरीन के लिए टॉयलेट ब्लॉक बनवाया जा रहा है। इस टॉयलेट ब्लॉक की दो मंजिल की छत डल चुकी है। निर्माण अभी जारी है। इस ब्लॉक के बन जाने से जायरीन की लंबे समय से चली आ रही समस्या का निदान होने की उम्मीद है।
झालरा में बरामदे का निर्माण
दरगाह शरीफ स्थित झालरा में गेट नम्बर 8 के समीप स्थित चबूतरे पर बरामदे का निर्माण कराया जा रहा है। यह निर्माण कार्य दरगाह कमेटी द्वारा करवाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

युवा नेता गजेन्द्र सिंह सोलंकी ने सक्रियता बड़ाई सुबह से देर रात तक कर रहे ग्रामीणों से भेंट

Sat Sep 12 , 2020
नारायण पटेल के इस्तीफे के बाद से मंधाता में उपचुनाव को लेकर माहौल तेज दर्जनभर उम्मीदवार मैदान में इसी बीच युवा चेहरा और स्थानीय नेता को पार्टी दे रही है टिकट इसी में सबसे मजबूत दावेदार और उम्मीदवार युवा सक्रिय नेता गजेंद्र सिंह सोलंकी का नाम प्राथमिकता से सुर्खियों में इसी बीच […]

You May Like

Breaking News

Corona Cases

Stay Home Stay Safe