लॉकडाउन की वजह से अजमेर में फंसे लोगों की घर वापसी : 1186 जयरीनों को लेकर स्पेशल ट्रेन पश्चिम बंगाल के लिए रवाना हुई ।

जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा और पुलिस कप्तान कुंवर राष्ट्रदीप सिंह ने तालियां बजाकर जायरीनों को विदा किया

सुबह 6 बजे ही शुरू हो गई थी जाने वालों की स्क्रीनिंग,40 दिन के बाद चली ट्रेन


भारत मे चल रहे लॉकडाउन के कारण अजमेर में फंसे पश्चिम बंगाल के 1186 जयरीनों को लेकर एक विशेष ट्रेन सोमवार को सुबह 11.20 बजे रवाना हुई। जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा और पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप सिंह ने रेलवे स्टेशन पर तालियां बजाकर जयरीनों को रवाना किया।


लॉकडाउन शुरू होने के 40 दिन बाद अजमेर रेलवे स्टेशन से ट्रेन का संचालन हुआ। जिला प्रशासन ने इस संबंध में अधिकारियों को अलग-अलग कार्य सौंपे थे। सुबह 6 बजे से देहली गेट पर जिन जायरीनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका था, उन सभी की स्क्रीनिंग की शुरुआत की गई। दरगाह बाजार में चार टीमें और अजमेर रेलवे स्टेशन पर एक मेडिकल टीम मौजूद रही। इसके बाद इन्हें बसों के जरिए रेलवे स्टेशन ले जाया गया।
बसों में जायरीन को बिठाने के लिए 10 अध्यापकों की टीम तैनात रही। रेलवे स्टेशन पर सभी जायरीनों को फेस मास्क, सैनिटाइजर, पानी की बोतल व भोजन के पैकेट और रेलवे टिकट दिए गए ।
ट्रेनों में जायरीनों को बैठाने के लिए 22 अध्यापकों की टीम काम में लगी रही।
इस कार्य के लिए नगर निगम आयुक्त चिन्मयी गोपाल एवं एडीए आयुक्त गौरव अग्रवाल सहित 12 अफसरों को विभिन्न व्यवस्थाओं की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

लोकडाउन के चलते अजमेर में फसे अमेठी के छात्रों को सकुशल उनके घर भेजा गया

Sun May 17 , 2020
प्रियंका गाँधी के आह्वान पर युवा कांग्रेस ने अमेठी की बेटी को अजमेर से अमेठी भेजा 6 मई 2020 को टिवटर के माध्यम से अजमेर मे मेडिकल कोचिंग कर रही अमेठी की बेटी ने वापस जाने की गुहार कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी से लगाई मामला प्रकाश में आने […]

You May Like

Breaking News

Corona Cases

Stay Home Stay Safe